यह है दुनिया का पहला अमर जीव इसकी आयु है करोड़ो साल

हेल्लो दोस्तों आपका maabharati.com पर स्वागत है

इस विशालकाय संसार में बहुत सारे जीव जंतु पेड़ पोधे पाए जाते है .

इनमे से कुछ के बारे में हम जानते है कुछ के बारे में नहीं और कुछ हमारे आने से पहले ही नष्ट हो गए या फिर कहे मर गए तो गलत नहीं होगा .

आप और हम जानते है की जो जीव है उसकी मृत्यु अवश्य होगी चाहे वो एक छोटा जीव हो या बड़ा .

अगर किसी जीव ने इस धरती पर जन्म लिया है तो उसको मरना होगा .

ये है अमर जीव

जी हा दोस्तों इस धरती पर कुछ जीव है जो मरते नहीं बल्कि सीधे ही अपने समान नए जीव का निर्माण कर लेते है . ये जीव एक कोशिकीय जीव होते है जैसे अमीबा , जीवाणु , micoplasma आदि है .

इन जीवो को माइक्रोस्कोप के द्वारा ही देखा जा सकता है . ये नग्न आँखों से दिखाई नहीं देते है.

अगर विज्ञानं से जुड़ा आपका सवाल है तो आप कांटेक्ट फॉर्म में लिख सकते है 

इन जीवो में कोशिका विभाजन के द्वारा जनन होता है . जेसे ही इन जीवो को टुकडो में काट दिया जाये तो ये मरेंगे नहीं बल्कि हर टुकड़े का नया जीव बन जाता है . ऐसा कुछ ही एक कोशिकीय जीवो में पाया जाता है . सभी एक कोशिकीय जीवो में नहीं .

परन्तु प्रत्येक टुकड़े से नया जीव जब बनेगा।  जब इसमें प्राप्त मात्रा में पोषक प्रदार्थ हो और इसमें इसका आनुवांशिक प्रदार्थ हो।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी आप कमेंट जरुर करे .

अगर विज्ञानं से जुड़ा आपका सवाल है तो आप कांटेक्ट फॉर्म में लिख सकते है 

maabharati: