अजब गजब – इन देशो ने दाढ़ी , खिड़की , कुवारों और आत्मा पर विश्वास रखने वालो पर भी टेक्स लगाया था

वैसे तो टेक्स वस्तुओ पर लगाया जाता है . परन्तु कुछ देशो में पुराने समय में कुछ ऐसे भी टेक्स वसूले थे जो वास्तव में अजीब है . आज इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे टेक्स के बारे में बतायेंगे जो दाढ़ी रखने , घर में खिड़की रखने , कुवारेपन पर और जो लोग आत्मा में विश्वास करते है उन पर लगाया गया था .

कुवारेपन पर टेक्स

9वीं शताब्दी में रोम के सम्राट ऑगस्टस ने शादी को बढ़ावा देने के लिए कुवारे लोगो से टेक्स लेना शुरू कर दिया था . इसके अलावा ऑगस्टस उन लोगो से भी टेक्स वसूलता था जिनके शादी होने के बाद बच्चे नहीं है . यानि इनका मुख्य उद्देश्य कुछ और नहीं 9वीं सदी में जनसंख्या को बढ़ावा देना था . इतिहासकार यह भी बताते है कि ऐसा टेक्स 20 वर्ष से 60 वर्ष के उम्र तक के लोगो से वसूला जाता था . इसके अलावा इटली के तानाशाह मुसोलिनी ने भी 1924 में 21 वर्ष से 50 वर्ष तक के कुवारों पर भी टेक्स लगाया था .

दाढ़ी पर टेक्स

ब्रिटेन के सम्राट हेनरी अष्टम ने 1535 में दाढ़ी रखने पर टेक्स लगाया था .परन्तु इतिहासकार बताते है कि वे खुद भी दाढ़ी रखते थे . यह टेक्स किसी व्यक्ति कि सामाजिक हेसियत पर लिया जाता था . इसके बाद हेनरी अष्टम कि बेटी एलिजाबेथ प्रथम ने नियम बनाया कि दो हफ्ते से बड़ी दाढ़ी पर टेक्स देना होगा . और अगर कोई व्यक्ति टेक्स लेने के समय घर पर नहीं पाया जाता है तो उसके निकट पडोशी से यह टेक्स वसूला जायेगा , इस नियम का उद्देश्य था कि लोग एक दुसरे का ध्यान रखे . रूस में भी 1698 में पिटर द ग्रेट ने भी दाढ़ी रखने पर टेक्स लगाया था . इतिहासकार मानते है कि वे चाहते थे कि लोग आधुनिक हो और लोग समय दाढ़ी बनवाते रहे . उस समय में दाढ़ी पर टेक्स चुकाने वालों को एक टोकन दिया जाता था . जिसको व्यक्ति को अपने पास रखना होता था . अगर किसी कारणवश टोकन खो जाता तो उस व्यक्ति को दुबारा टेक्स भरना पड़ता था .

खिड़की पर टेक्स

इंग्लेंड ओर वेल्स के शासक विलियम तृतीय ने 1696 में खिड़की रखने पर भी टेक्स लगा दिया था इसका कारण भी अजीब था जिस समय यह अनोखा टेक्स लगाया गया था उस समय इंग्लेंड और वेल्स के शाही खजाने कि स्थिति बहुत खराब थी इसको सुधारना तो जरुरी था ही और लोग इनकम टेक्स का भारी विरोध कर रहे थे . इसलिए विलियम तृतीय ने खिड़की रखने पर ही टेक्स लगा दिया .

प्रेत और आत्मा में विश्वास रखने वालो पर टेक्स

पिटर द ग्रेट ने ही 1718 में आत्मा पर भी टेक्स लगा दिया था . यह टेक्स उन लोगो को देना होता था जो आत्मा में विश्वास रखते है और जो लोग आत्मा होने पर विश्वास नहीं रखते थे उनको यह टेक्स नहीं चुकाना होता था . पंरतु यह चर्च को नहीं देना पड़ता था . इस टेक्स में भी नियम था कि अगर कोई व्यक्ति घर पर न मिले तो उसके पड़ोसी से यह टेक्स लिया जायेगा . 

maabharati: